मैंने thinking pictures में स्क्रिप्ट दी है

मैंने thinking pictures में स्क्रिप्ट दी है 

अध्यक्ष जी!

मैंने अपने मुंबई प्रवास के दौरान thinking pictures में वंहा की रिसेप्शन पर बैठने वाली अकाउंटेंट ms स्वीटी के कहने पर राज शांडिल्य जी के असिस्टेंट कृषानु के हाथ में अपनी स्क्रिप्ट मनमौजी फुल स्क्रिप्ट with डायलॉग &सांग्स उसे दे दी और साथ में उसने मेरे नॉवेल बाढ़ में बहती हुईं लड़की को भी रखा.

उपर से दिखा कर आता हूँ करके गया और नहीं लौटा.

उसके बाद मै 30-40बार राज शांडिल्य के ऑफिस svp नगर गईं पर स्वीटी ने न तो राज शांडिल्य से मिलाई न मेरी स्क्रिप्ट और बुक ही वापस लौटाई आखिर मुझे मुंबई से लौटना पड़ा पर उन लोगों ने न तो मेरी किताब दी है न ही मेरी स्क्रिप्ट लौटाई है.

कृपया राज शांडिल्य के ऑफिस में चल रहें ऐसे गलत लोगों के झूठ बोलकर स्क्रिप्ट रखने के जलसाजी को रोकिये.

और स्वीटी ने कही थी कि वो मेरी स्क्रिप्ट के लिए राज शांडिल्य से बात कराएगी मुझे वे लोग फोन करेंगे. ऐसी झूठी जलसाजी को रोकिये. ऐसा नहीं हुआ और मेरी स्क्रिप्ट लेकर उन लोगों ने मुझसे चीटिंग की है.

Mr. राज शांडिल्य एक reputed राइटर है और उनके यंहा यदि ऐसा होता है तो विश्वास किस पर करें हम?

विनीता -जोगेश्वरी सधीर

स्क्रिप्ट राइटर

Mob -9399896654

Wht -8109978163


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *